आप मेडिक्लेम पॉलिसी के बारे में जो हमेशा से जानना चाहते थे

अध्ययनों से पता चलता है कि स्वास्थ्य देखभाल के खर्च में उछाल के साथ बढ़ती मुद्रास्फीति दर के बावजूद, 70% भारतीयों ने अभी तक अस्पताल में होने वाले खर्चों के खिलाफ किसी भी प्रकार के बीमा कवर का चयन नहीं किया है। यह जानकर आश्चर्य होता है कि भारत जैसे तेजी से विकास कर रहे देश में, लोग अभी भी दुर्घटना या बीमारियों से अचानक से उत्पन्न होने वाली किसी भी वित्तीय आपात स्थिति से निपटने के लिए उपयुक्त व्यवस्था का प्लान बनाने की जरूरत नहीं समझते।

<h2मेडिक्लेम पॉलिसी क्या है</h2>

आपात चिकित्सा में तैयार रहने और अपनी बचत की रक्षा करने का सबसे अच्छा और सबसे किफायती तरीका है मेडिक्लेम बीमा पॉलिसी । यह बीमारी, दुर्घटना और या यहां तक कि किसी भी जरूरी सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती और उसके बाद के मेडिकल खर्च का ख्याल रखता है। बीमा कंपनी द्वारा ऑफर किए गए कैशलेस उपचार सुविधा या प्रतिपूर्ति मोड के माध्यम से बिलों का ख्याल रखा जाता है।

तो, मेडिक्लेम पॉलिसी में निवेश करना महत्वपूर्ण क्यों है? जवाब सरल है - अपने वित्तीय हितों की रक्षा के लिए

मेडिक्लेम पॉलिसी क्यों

सरल शब्दों में, यदि आप किसी दुर्घटना या किसी भी बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती होते हैं तो मेडिक्लेम पॉलिसी आपकी जमा पूंजी की रक्षा के लिए काम आती है। यह आप को नर्सिंग, लॉजिंग और उपचार लागत के लिए कवर करता है जो पॉलिसी खरीदने के दौरान आपके द्वारा चुने गए कवरेज राशि के बराबर है। आपको जिस कारण/बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था, अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद भी, ज्यादातर मेडिक्लेम पॉलिसीयां उपचार के लिए कवर करती है| यह समय सीमा, बीमाकर्ता पर निर्भर करती है और विशेष रूप से अस्पताल में भर्ती होने के 30-60 दिनों पहले और 60-120 दिनों के बाद के बीच होती है।

मेडिक्लेम पॉलिसी की विशेषताएं और लाभ

  • वार्षिक रिन्यूअल किया जा सकता है। कुछ बीमाकर्ता हर 2 या 3 वर्षों में रिन्यूअल ऑफर करते हैं
  • वैयक्तिक या परिवार के लिए चुना जा सकता है
  • 91 दिनों से 65 वर्ष की आयु के बीच के किसी भी व्यक्ति के लिए है
  • 2-4 साल की प्रतीक्षा अवधि के बाद पहले से मौजूद मेडिकल स्थितियों को कवर किया गया है
  • किसी भी पेपरवर्क के बिना ऑनलाइन खरीदा जा सकता है
  • चुनी गयी बीमाकृत राशि ₹ 50 लाख या उससे अधिक हो सकती है
  • रिन्यूअल के समय में विभिन्न बीमाकर्ता को पोर्ट किया जा सकता है
  • आपको पूर्ण स्वास्थ्य कवर और अच्छी सेविंग देता है।
  • किफायती प्रीमियम पर उच्च कवर प्राप्त करें।
  • पर्याप्त मेडिकल सहायता के लिए यह सबसे सस्ता साधन है।
  • कैशलेस अस्पताल में भर्ती होना, यह सुनिश्चित करता है कि आपको जेब से अधिक कोई मेडिकल खर्च नहीं करना होता।
  • अपने घर बैठ ऑनलाइन खरीदना आसान है।
  • आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80डी के तहत भुगतान किए हुए प्रीमियम पर कर कटौती प्राप्त करें।

प्रीमियम निर्धारित कैसे होता है?

बीमा कंपनियां मेडिक्लेम पॉलिसी के लिए प्रीमियम निर्धारित करते समय कई पहलुओं पर विचार करती हैं। आयु, बीमाकृत राशि, भौगोलिक स्थिति, कोई पहले से मौजूद मेडिकल स्थिति, बीमाकृत होने वाले सदस्यों की संख्या, कवरेज की सीमा इत्यादि उनमें से कुछ हैं। हालांकि आई.आर.डी.ए.आई द्वारा दिशानिर्देश निर्धारित की जाती है, लेकिन आपकी जरूरतों और आवश्यकताओं के आधार पर प्रीमियम गणना के संबंध में अंतिम निर्णय स्वास्थ्य बीमा कंपनियां ही लेती हैं। आपकी जरूरतें जितनी व्यापक होगी, प्रीमियम राशि उतनी ही अधिक होंगी।

मेडिक्लेम पॉलिसी में क्या कवर नहीं है?

जब आपका मेडिक्लेम बीमा अस्पताल में भर्ती और उनसे संबंधित ज्यादातर खर्चों को कवर करेगा, कुछ निश्चित बहिष्करण हैं जो पॉलिसी में कवर नहीं हैं। जो कवर नहीं किया गया है उसकी सूची पॉलिसी दस्तावेज़ का एक अभिन्न हिस्सा बनती है और इसे अधिक जानकारी के लिए संदर्भित किया जाना चाहिए। नीचे कुछ ऐसे पहलू हैं जो अधिकांश मेडिक्लेम पॉलिसीयों में कवर नहीं हैं।

  • मेडिकल के खर्च में प्रशासनिक शुल्क, सेवा शुल्क, प्रसाधन सामग्री, डायपर, सिरिंज इत्यादि नहीं आते हैं ।
  • पॉलिसी खरीद से विशिष्ट समय के भीतर रोग/बीमारियां अनुबंधित है
  • दुर्घटना के मामले में दंत चिकित्सा के अलावा
  • यौन संचारित रोग और एच.आई.वी
  • कॉस्मेटिक सर्जरी, खतना या प्लास्टिक सर्जरी
  • टीकाकरण
  • शराब, धूम्रपान, नशीली दवाओं के दुरुपयोग इत्यादि की व्यसन के परिणाम में मेडिकल स्थिति
  • युद्ध, परमाणु हथियार इत्यादि से उत्पन्न होने वाली स्वास्थ्य स्थितियां

मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदने के दौरान आपको किन बातों पर विचार करना चाहिए?

मेडिक्लेम में निवेश करना एक अच्छा निर्णय है। सभी शामिल कारकों पर विचार करें और उसी प्रकार से सही पॉलिसी का चयन करें। नीचे कुछ ऐसे पहलू हैं जिनके बारे में आपको पॉलिसी खरीदने से पहले विचार करने की जरूरत है:

  • बीमाकृत राशि (कवरेज राशि): बीमित राशि या कवरेज राशि चुनते समय, सही राशि चुनने के लिए बढ़ती स्वास्थ्य देखभाल लागत, मुद्रास्फीति की दर इत्यादि जैसे कारकों पर विचार करने की सलाह दी जाती है। साथ ही, यदि आप मेट्रो शहरों में रह रहे हैं, तो ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में अस्पताल में भर्ती की लागत अधिक होती है। उसी प्रकार, यदि आप अपने आश्रितों के लिए कवरेज को चुन रहे हैं, तो आप उच्च बीमाकृत राशि पर विचार करते हैं।
  • वैयक्तिक या परिवार के फ़्लोटर: यह निर्णय पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है। यदि आप अविवाहित हैं और केवल खुद को कवर करना चाह रहे हैं तो आप वैयक्तिक पॉलिसी चुन सकते हैं। तथापि, यदि आप अपने माता-पिता सहित अपने पूरे परिवार के लिए कवर चुनते हैं तो परिवार के फ्लोटर प्लान चुनना आदर्श विकल्प है। बीमा कंपनियों द्वारा ऑफर की गई छूट के कारण परिवार के प्रत्येक सदस्यों के लिए खरीदी गई वैयक्तिक पॉलिसीयों की तुलना में परिवार के फ्लोटर प्लान पर खर्च करना कम खर्चीला होता है।
  • रूम किराए पर उप-सीमा: ज्यादातर मेडिक्लेम प्लान विशिष्ट रूप से रूम किराए पर उप-सीमा के साथ बने हैं। यह सीमाएं बीमा कंपनियों पर निर्भर हो सकती हैं। इसे सरल बनाने के लिए, आईये एक उदाहरण के साथ समझाते हैं। श्री. कुलकरनी ने एक प्लान खरीदा था जो बीमाकृत राशि के 1% के रूप में रूम किराए पर उप-सीमा थी। उन्होंने ₹ 2 लाख का कवरेज चुना था। इसका मतलब है, हर बार श्री. कुलकरनी अपनी मेडिक्लेम पर अस्पताल में भर्ती होने का दावा करना चाहते हैं, बीमा कंपनी अपने बीमाकृत राशि के 1% के रूम किराए तक सीमित अपने खर्चों की क्षतिपूर्ति करेगा यानि प्रति दिन ₹ 2,000 । दावे के वितरण की पूरी गणना उनके रूम किराए के सीमा के अनुसार की जाएगी, अगर वे ₹ 2,000 की सीमा से अधिक के कमरे को चुनते हैं। इसलिए, क्लेम सेटलमेंट के दौरान किसी भी गहरे सदमे से बचने के लिए उचित रूम किराए के साथ पॉलिसी चुनना बुद्धिमानी भरा काम है।
  • सह भुगतान: कई मेडिक्लेम पॉलिसीयां सह भुगतान के साथ अंतर्निहित हैं। सह-भुगतान मूल रूप से प्रतिशत राशि है, जिसे पॉलिसी धारक को भुगतान करना पड़ता है जब बीमा कंपनी के शेष को निपटाने से पहले ही दावा किया जाता है। यह सह-भुगतान बीमा कंपनी पर निर्भर करती है जो की 10% और 30% के बीच हो सकता है। उदाहरण के लिए: यदि आपने 20% सह-भुगतान के साथ मेडिक्लेम को चुना है, तो आप जब भी दावा करते हैं, आपको कुल दावे राशि का पहले 20% देना होगा और बाकी पॉलिसी के नियमों और शर्तों के अनुसार बीमा कंपनी द्वारा मुआवजा दिया जाएगा। कुछ बीमा कंपनियां उच्च सह-भुगतान के साथ पहले से मौजूद बीमारियों से जुड़े जोखिमों का कवर भी ऑफर करती हैं।
  • बहिष्करण: हर मेडिक्लेम पॉलिसी आपके मेडिकल जोखिम को कवर करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। हालांकि, कुछ बहिष्करण हैं जो एक विशिष्ट अवधि के बाद या तो कवर किए गए हैं या कवर ही नहीं किए गए हैं। आत्महत्या के प्रयास से उत्पन्न होने वाली स्थितियां, एच.आई.वी संक्रमण, जन्मजात बीमारियां, शराब या नशीली दवाओं के व्यसन आदि किसी भी पॉलिसी द्वारा कवर नहीं किए गए हैं जबकि मातृत्व, हिस्टरेक्टॉमी, पित्त मूत्राशय सर्जरी, पथरी आदि से संबंधित खर्च एक विशिष्ट प्रतीक्षा अवधि के बाद कवर किए जाते हैं। ज्यादातर बीमा कंपनियां 2-4 वर्षों के बाद ही किसी भी पहले से मौजूद बीमारियों से संबंधित जोखिम को कवर करती हैं। प्लान के पॉलिसी के शब्दों में इन बहिष्करणों का विवरण उल्लिखित है और अंतिम रूप से खरीदने से पहले उसे ध्यान से पढ़ लेना चाहिए।
  • अस्पताल नेटवर्क: मेडिक्लेम पॉलिसी चुनने का सबसे बड़ा लाभ अस्पताल में भर्ती होने पर होने वाले खर्चों के कैशलेस सेटलमेंट की सुविधा है। प्रत्येक बीमा कंपनी के पास अस्पतालों का नेटवर्क होता है और जब आप इनमें से किसी भी अस्पताल में भर्ती होते हैं, तो आप कैशलेस उपचार के हकदार हैं यदि यह अस्पताल में भर्ती/उपचार कवरेज के स्कोप में है। यह सबसे महत्वपूर्ण समय में एक बहुत बड़े वित्तीय राहत का काम करता है। इसलिए, पता करे अपने क्षेत्र के वह अस्पतालों के बारे में जो उस बीमा कंपनी के साथ मेल-जोल में हैं जिससे आप प्लान खरीदना चाहते हों।
  • बीमा कंपनी की प्रतिष्ठा: आखिर में महत्वपूर्ण यह है कि, विश्वसनीयता की जांच करना हमेशा एक समझदारी है और बीमा कंपनी के स्थायी बाजार जिसे आप मेडिक्लेम खरीदना चाहते हैं। इसके अलावा, उनके सेटलमेंट रेसियो का एक छोटा अध्ययन भी अंतिम निर्णय लेने के दौरान उपयोगी साबित होगा।

मेडिक्लेम पॉलिसी किसे खरीदनी चाहिए?

खैर, जवाब सरल है। कोई भी जो उन भारी अस्पताल में भर्ती होने के खर्चों को जुटा नहीं सकते और संबंधित स्वास्थ्य देखभाल लागत, उनको अच्छे मेडिक्लेम बीमा में निश्चित रूप से निवेश करना चाहिए। प्रत्येक वर्ष आपके द्वारा भुगतान किए जाने वाले प्रीमियमों को ध्यान में रखते हुए, आपके द्वारा प्राप्त किए जाने वाले लाभ बहुत मूल्यवान होते हैं। माने गए वित्तीय सहायता के साथ,यह मन की शांति प्रदान करता है जिसके लिए इसको महत्व देते है।

मेडिक्लेम पॉलिसी पर दावा कैसे करें?

बीमा क्षेत्र में प्रगति के साथ, आपकी मेडिक्लेम पॉलिसी पर दावा करना काफी सुविधाजनक व परेशानी मुक्त कार्य बन गया है। जैसा कि आप जानते हैं, आप दो तरीकों से दावा कर सकते हैं - कैशलेस और प्रतिपूर्ति। यदि आप नेटवर्क अस्पताल में कैशलेस उपचार को चुनना चाहते हैं, तो आपको अस्पताल में प्रवेश के समय टी.पी.ए (थर्ड पार्टी के प्रशासक) हेल्प डेस्क से संपर्क करना होगा। कैशलेस उपचार के लिए अनुमोदन मांगने के लिए डॉक्टर की रिपोर्ट के साथ एक दावा फ़ॉर्म जमा करना होगा। यदि अनुरोध स्वीकृत किया गया है, तो बीमा कंपनी/टी.पी.ए पॉलिसीधारक को शामिल किए बिना अस्पताल के साथ सीधे खर्चों के लिए बिलों को निपटा देती है। यह आपकी मेडिक्लेम पॉलिसी पर दावा करने का सबसे सुविधाजनक तरीका है। यदि, किसी भी कारण से, आप कैशलेस उपचार नहीं ले पा रहे हैं, तो आप प्रतिपूर्ति का विकल्प चुन सकते हैं। जब अस्पताल में इलाज की मांग की जाती है और बकाया राशि, डिस्चार्ज सारांश और अन्य सभी संबंधित नुस्खे और डॉक्टर की रिपोर्ट के साथ दावे का फ़ॉर्म बीमा कंपनी/टी.पी.ए को भेजा जाना चाहिए। बीमा कंपनी/टी.पी.ए क्लेम सेटलमेंट पर अंतिम निर्णय लेने से पहले पॉलिसी शर्तों के खिलाफ दस्तावेजों की सत्यता की जांच करेगी और पॉलिसी शर्तों की भी जांच करेगी। आम तौर पर, इस प्रक्रिया में लगभग 15-25 बिज़नेस दिन लगते हैं।

कवरफॉक्स आपको सही मेडिक्लेम पॉलिसी चुनने में मदद कैसे कर सकता है?

  • सुविधाजनक और परेशानी मुक्त आवेदन प्रक्रिया के साथ साथ ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर तुलना करना और सही प्लान चुनना।
  • आपकी आवश्यकताओं के अनुसार सही निर्णय के साथ सहायता करने के लिए विशेषज्ञ और निष्पक्ष सलाह।
  • विशेषज्ञ दावों के प्रबंधन सहित आपके सभी पोस्ट-बिक्री प्रश्नों से निपटने के लिए समर्पित ग्राहक सेवा इकाई।
  • परेशानी मुक्त और सुखद खरीदारी अनुभव सुनिश्चित करने के लिए न्यूनतम पेपरवर्क।

मेडिक्लेम पॉलिसी पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

टी.पी.ए बीमा कंपनी से अलग कैसे है?

टी.पी.ए एक थर्ड पार्टी प्रशासक है जो आई.आर.डी.ए.आई द्वारा लाइसेंस प्राप्त है ताकि सभी बीमा कंपनियों के लिए सेवा प्रदाता के रूप में कार्य कर सके। वे दावों के प्रबंधन, पॉलिसी दस्तावेजों और स्वास्थ्य कार्ड प्रेषण, बिक्री के बाद की सेवाओं आदि सहित उनकी मूल्यवर्धित सेवाओं को ऑफर करके स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी को सुचारू रूप से कार्य करने में मदद करते हैं।

मैंने अभी अपने परिवार के लिए मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदी है। मेरी बेटी अस्वस्थ है और उसे अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है। क्या मैं कैशलेस उपचार के लिए निवेदन कर सकता हूं?

ज्यादातर मेडिक्लेम पॉलिसीयों में 30 दिनों की अनिवार्य प्रतीक्षा अवधि होती है (आकस्मिक चोटों को छोड़कर)। यदि आप पहले ही इस प्रतीक्षा अवधि को पार कर चुके हैं, तो आप कैशलेस उपचार के लिए निवेदन कर सकते हैं, अग आप अपनी बेटी को अपनी बीमा कंपनी के नेटवर्क अस्पताल में भर्ती करना चाहते हैं।

क्या मैं सर्जरी कराने से पहले और बाद के अपने खर्चों का दावा कर सकता हूं?

हाँ, आप कर सकते है। अधिकांश मेडिक्लेम पॉलिसी अस्पताल में भर्ती होने के 30-60 दिन पहले के और 60-120 दिन के बाद के खर्चों को कवर करती हैं। कृपया इस खंड की जांच के लिए अपनी बीमा पॉलिसी के शर्तों की जांच करें।

क्या मेरी मेडिक्लेम पॉलिसी पर किए गए दावों की संख्या पर कोई सीमा है?

नहीं। आप पॉलिसी अवधि के दौरान अपने बीमाकृत राशि के अधिकतम राशी तक कई बार दावा कर सकते हैं।

अगर मैं मुंबई में मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदता हूं, तो क्या मैं बैंगलोर में इसका दावा कर सकता हूं?

हाँ। मेडिक्लेम पॉलिसी पूरे भारत में वैध है और आप भारत में किसी भी पंजीकृत अस्पताल में उपचार की मांग के लिए दावा कर सकते हैं।

क्या मुझे मेडिकल चेकअप से पहले के पॉलिसी को देखना होगा?

ईमानदारी से कहा जाए तो यह निर्णय पूरी तरह से बीमा कंपनी के साथ निहित है। अगर उन्हें ऐसा करने की आवश्यकता महसूस होती है, तो आपको अपनी सुविधा के अनुसार उनके द्वारा सुझाए गए अधिकृत निदान केंद्र पर पहले से जारी मेडिकल चेकअप की आवश्यकता होगी। आम तौर पर, 45 वर्ष से अधिक आयु के या पहले से मौजूद किसी भी मेडिकल स्थिति से पीड़ित व्यक्ति के लिए जोखिम की गहराई का मूल्यांकन करने के लिए मेडिकल चेकअप शुरू किया गया है।

क्या मैं मेडिक्लेम पॉलिसी के तहत घरेलू उपचार का उपयोग कर सकता हूं?

हां, आप एक घरेलू उपचार का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, मेडिक्लेम पॉलिसी के तहत केवल घरेलू अस्पताल में भर्ती होने पर कवर किया जाता है। यह उपचार किसी भी अस्वस्थता/बीमारी के लिए होना चाहिए जिसके लिए नीचे दिए कारणों से घर में अस्पताल की व्यवस्था करने की आवश्यकता है:

  • रोगी अस्पताल में ट्रांसफर होने की स्थिति में नहीं है या स्वयं अस्पताल में आवास की कमी है।
  • बीमारियों के लिए पहले और बाद में अस्पताल में भर्ती होने वाले खर्च और उपचार जैसे - एपिलेप्सी, अस्थमा, क्रोनिक डिसऑर्डर, ब्रोंकाइटिस, खांसी, सर्दी, हाइपरटेंशन, इन्फ्लुएंजा, डिसेंट्री या डायरिया इत्यादि का घरेलू अस्पताल में भर्ती होने के लाभ के तहत भुगतान नहीं किया जाता है।

क्या मैं किसी अस्पताल में उपचार का उपयोग कर सकता हूं?

आप केवल बीमा अस्पतालों के तहत उपचार कर सकते हैं, जो बीमा कंपनी के साथ सूचीबद्ध है। अस्पताल को निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना चाहिए:

  • अस्पताल में गुण-संपन्न डॉक्टर और प्रशिक्षित नर्स 24 * 7 होना चाहिए।
  • अस्पताल में कम से कम 15 भर्ती रोगी बिस्तर होना चाहिए।
  • अस्पताल को एक अच्छे ऑपरेशन थिएटर से पूरी तरह से सुसज्जित किया जाना चाहिए।

ऑपरेशन थियेटर मानदंडों को छोड़कर आप सभी शर्तों को पूरा करने वाले किसी भी आयुर्वेदिक अस्पतालों में भी इलाज का लाभ उठा सकते हैं।

क्या मैं किसी भी अस्पताल में इलाज का लाभ उठा सकता हूं?

आप केवल बीमा कंपनी के साथ सूचीबद्ध अस्पतालों में इलाज करा सकते हैं। अस्पताल को निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना चाहिए:

  • अस्पताल में निपुण डॉक्टर और प्रशिक्षित नर्स 24*7 होने चाहिए।
  • अस्पताल में कम से कम 15 रोगी बिस्तर होने चाहिए।
  • अस्पताल में एक सुव्यवस्थित ऑपरेशन थिएटर होना चाहिए। ऑपरेशन थिएटर मानदंडों को छोड़कर आप अन्य शर्तों को पूरा करने वाले किसी भी आयुर्वेदिक अस्पताल में भी इलाज का लाभ उठा सकते हैं।

भारत में किस प्रकार की मेडिक्लेम बीमा पॉलिसियां उपलब्ध हैं?

मेडिक्लेम बीमा पॉलिसियां दो प्रकार की हैं:

  • वैयक्तिक मेडिक्लेम पॉलिसी- यह केवल वैयक्तिक या एक व्यक्ति को कवर करता है। प्रीमियम की गणना वैयक्तिक के आयु के अनुसार की जाती है। बीमाकृत इस प्रकार के मेडिक्लेम बीमा के तहत पूरे बीमाकृत राशि का दावा कर सकता है। यदि बीमाकृत राशि ₹ 10 लाख है, तो आप केवल ₹ 10 लाख तक का दावा कर सकते हैं। ₹ 10 लाख से अधिक की राशि का दावा नहीं किया जा सकता।
  • परिवार के फ्लोटर मेडिक्लेम पॉलिसी- पूरे परिवार को इस प्रकार के मेडिक्लेम पॉलिसी के तहत कवर किया जा सकता है। यहां, प्रीमियम की गणना पॉलिसी के सबसे बड़े सदस्य की आयु के अनुसार की जाती है। यदि बीमा राशि ₹ 10 लाख है तो कोई भी व्यक्ति वैयक्तिक रूप से या पूरा परिवार ₹ 10 लाख तक की बीमाकृत राशि का दावा कर सकता है।

यदि मैं एक पंजीकरण करना चाहता हूँ तो मेडिक्लेम बीमा के तहत दावों को सेटल कैसे किया जाता है?

मेडिक्लेम बीमा के तहत दावों को दो तरीकों से सेटल किया जाता है:

  • कैशलेस सेटलमेंट– यहां, अस्पताल में भर्ती होने के खर्च बीमा कंपनियों से सीधे या उनके थर्ड पार्टी प्रशासक (टी.पी.ए) से एकत्र किए जाते हैं। आपको बीमा कंपनी के साथ सूचीबद्ध किसी भी अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता है और अपने बीमा कंपनी द्वारा जारी किए गए अपने स्वास्थ्य कार्ड पेश करने की भी।
  • प्रतिपूर्ति सेटलमेंट- यहां, आपको अस्पताल में भर्ती होने के खर्च का भुगतान सीधे अस्पताल को करना होगा और फिर बीमा कंपनी से बिलों को सेटल करने की प्रतिपूर्ति का दावा करना होगा।

आपातकालीन स्थिति में, मेरे खर्चों को सेटल नहीं करने पर क्या कोई प्रतीक्षा अवधि होती है?

अगर बीमाकृत को आकस्मिक आपातकाल के कारण अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, तो बीमा कंपनी स्वास्थ्य प्लान के अनुसार कवरेज का भुगतान करती है। मतलब, आकस्मिक आपातकाल बीमा जारी करने की तारीख से कवर की जाती है। इसके अलावा, किसी भी मेडिक्लेम उपचार लागत को कवर करने के लिए बीमाकर्ता के आधार पर प्रतीक्षा अवधि 30 से 90 दिन के होती हैं। और, विशिष्ट बीमारियों के लिए विशिष्ट प्रतीक्षा अवधि भी है। स्वास्थ्य प्लान की खरीद से पहले और दावा दर्ज करने से पहले प्रतीक्षा अवधि से संबंधित सभी खंडों की जांच करने की सलाह देते है।

Leave a rating!
1.0 (0 votes)